Join us on Facebook
Become a GFWA member

Site Announcements

Invitation to RPS SAVANA Allottees to join Case in NCDRC against RPS Infrastructures Ltd


Have you submitted a rating and reviewed your project?
Rate & Review your project now! Submit your project and review.
Read Reviews! Share your feedback!


** Enhanced EDC Stayed by High Court **

Forum email notifications...Please read !
Carpool from Greater Faridabad to Noida
Carpool from Greater Faridabad to GGN


Advertise with us

Articles from print media

Bypass Road deadline extended again!!!

Postby rizgr8 » Tue Jun 05, 2012 9:47 am

http://navbharattimes.indiatimes.com/ar ... 823785.cms

एक और डेडलाइन होगी बाईपास!

Jun 5, 2012, 09.00AM ISTएनबीटी न्यूज ॥ फरीदाबाद


बाईपास रोड के निर्माण की रफ्तार को देखते हुए यह तय हो गया है कि यह नई डेडलाइन पर भी पूरी तरह तैयार नहीं हो पाएगा। हूडा को इस रोड के लिए एक और डेडलाइन तय करनी होगी। पिछले दिनों फाइनैंशल कमिश्नर एस. एस. ढिल्लो ने बाईपास रोड के लिए जून 2012 डेडलाइन तय की थी और अधिकारियों को तय वक्त पर काम पूरा करने का निर्देश भी दिया था। अब जून शुरू हो गया है और बाईपास रोड के कुछ काम ऐसे बचे हैं जिन्हें पूरा होने में 4 से 5 महीने लग सकते हैं। ओल्ड फरीदाबाद के पास बसी हुई किसान मजदूर कॉलोनी और मलेरना रेलवे ओवरब्रिज उनमें से एक है।

नैशनल हाइवे पर ट्रैफिक का दबाव कम करने और दिल्ली-आगरा आने-जाने वालों को एक और रास्त मुहैया कराने के लिए हूडा आगरा नहर के साथ बाईपास रोड बना रहा है। सेक्टर-37 से सेक्टर-59 तक बनने वाले इस रोड की लंबाई लगभग 26 किमी होगी। बाईपास रोड का निर्माण नवंबर 2008 में शुरू किया गया था और इसकी डेडलाइन कॉमनवेल्थ गेम्स से पहले तय की गई थी। काम पूरा नहीं होने पर हूडा ने नई डेडलाइन 31 दिसंबर 2010 रखी। फिर अगली डेडलाइन 31 मार्च 2011 और फिर 31 दिसंबर 2011 रखी गई। उस समय तक भी काम पूरा न होता देख फाइनैंशल कमिश्नर एस. एस. ढिल्लो ने जून 2012 नई डेडलाइन रखी। लेकिन इस डेट तक भी हूडा बाईपास रोड का काम पूरा नहीं कर पाएगा। इस रोड के निर्माण में अभी काफी काम बचा है, जिसे पूरा करने में 4 से 5 महीने का समय लग सकता है। लगातार नई डेडलाइन के चलते बाईपास रोड का बजट 122 करोड़ रुपये से बढ़कर 145 करोड़ रुपये हो गया है।

बाईपास रोड के निर्माण में सबसे बड़ी बाधा ओल्ड फरीदाबाद के पास बसी किसान मजदूर कॉलोनी के अवैध निर्माण हैं। यहां लगभग 1.1 किमी में लगभग 350 अवैध निर्माण ऐसे हैं जो बाईपास रोड में बाधा बन रहे हैं। इनमें रहने वालों ने अपने निर्माणों पर स्टे लिया हुआ है, जिसके चलते इन्हें हटाने में दिक्कतें हो रही हैं। इसके अलावा बाईपास रोड पर मलेरना में 38 करोड़ रुपये की लागत से बन रहा रेलवे ओवरब्रिज भी इसके निर्माण में बाधा बना हुआ है। इस आरओबी के रास्ते में 122 केवी का हाईटेंशन तार आ रहा है, जिसके हटने के बाद हूडा अपना काम शुरू कर सकेगा। इस तार को हटाने और आरओबी के बनने में अभी 4 से 5 महीने तक लग सकता है।

हूडा एसई टी . डी . चोपड़ा का कहना है कि बाईपास रोड का निर्माण लगभग 98 फीसदी पूरा किया जा चुका है। अभी भी हमारा प्रयास है कि हम जल्द से जल्द काम पूरा कर लें। अवैध निर्माणों को आशियाना में शिफ्ट करने के लिए हमने उच्च अधिकारियों को लिखा है और मलेरना आरओबी के रास्ते से हाईटेंशन तार को हटाने का काम शुरू हो गया है। हम जल्द ही पूरे बाईपास रोड का निर्माण कर लेंग े।
User avatar
rizgr8
GFWA Member
GFWA Member
 
Posts: 79
Joined: Fri Jul 15, 2011 6:58 pm
Location: New Delhi

Return to News Articles

 


  • Related topics
    Replies
    Views
    Last post

Who is online

Users browsing this forum: No registered users and 0 guests