Join us on Facebook
Become a GFWA member

Site Announcements

Invitation to RPS SAVANA Allottees to join Case in NCDRC against RPS Infrastructures Ltd


Have you submitted a rating and reviewed your project?
Rate & Review your project now! Submit your project and review.
Read Reviews! Share your feedback!


** Enhanced EDC Stayed by High Court **

Forum email notifications...Please read !
Carpool from Greater Faridabad to Noida
Carpool from Greater Faridabad to GGN


Advertise with us

Discuss, get the latest news and developments in the Greater Faridabad region

Faridabad Master Plan 2031 on papers

Postby yogesh » Thu Sep 27, 2012 9:32 am

link http://navbharattimes.indiatimes.com/so ... 0.cms#gads
navbharat times
जल्द कागजों पर होगा मास्टर प्लान 2031
एनबीटी न्यूज ॥ फरीदाबाद
इंडस्ट्रियल सिटी को और विकसित करने के लिए मास्टर प्लान 2031 तैयार किया गया है। पिछले काफी समय से टाउन एंड कंट्री प्लानिंग विभाग मास्टर प्लान को प्रकाशित कराने का प्रयास कर रहा है लेकिन सरकार व उच्च अधिकारियों की व्यस्तता की वजह से यह प्रक्रिया काफी धीमी चल रही थी। प्लानिंग डिपार्टमेंट के डायरेक्टर ने प्लान को मंजूरी दे दी है। अब जल्द ही उच्च अधिकारियों की ओर से अप्रूव्ड कर इसे प्रकाशित करने की प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी।
मास्टर प्लान में क्या है खास
इस समय फरीदाबाद की जनसंख्या करीब 18 लाख है और मास्टर प्लान 42 लाख की आबादी को ध्यान में रखकर बनाया गया है। फिलहाल फरीदाबाद में 101 सेक्टर हैं और मास्टर प्लान के बाद सेक्टरों की संख्या 171 हो जाएगी। इसके साथ ही फरीदाबाद को नोएडा और ग्रेटर नोएडा से जोड़ने के लिए यमुना पर बनने वाले 2 पुलों की संभावनाओं को भी मास्टर प्लान में शामिल किया गया है। मास्टर प्लान के हिसाब से जिले में 42 कॉलेज, 3 लाइब्रेरी, 39 अस्पताल, 5 स्टेडियम, 1 पशु चारागाह, 1 कसाईखाना, कामकाजी महिलाओं के लिए 1 हॉस्टल, 21 ग्रिड सबस्टेशन, 5 फायरब्रिगेड स्टेशन और 12 श्मशान घाट होने चाहिए।
'जल्द हरी झंडी मिलने की उम्मीद'
डीटीपी संजीव मान का कहना है मास्टर प्लान 2031 की प्रक्रिया प्रोसेस में है। उम्मीद है कि जल्द ही उच्च अधिकारियों से हरी झंडी मिल जाएगी। इसके बाद इसे प्रकाशित करने की प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी। इसके लिए पहले डिस्ट्रिक्ट लेवल कमिटी और फिर स्टेट लेवल कमिटी के समाने मास्टर प्लान की प्रेजेंटेशन दी जाएगी।
User avatar
yogesh
GFWA Member
GFWA Member
 
Posts: 218
Joined: Wed Apr 20, 2011 5:02 pm

Re: master plan 2031 on papers

Postby ashoka2002inin » Thu Sep 27, 2012 10:10 am

I hope it is not the pre-impact of our protest and a fake bureaucratic act of hiding their inefficiency working.
User avatar
ashoka2002inin
GFWA Member
GFWA Member
 
Posts: 66
Joined: Wed Jun 29, 2011 3:47 pm

Faridabad Master Plan 2031

Postby yadav_ajay » Sat Nov 24, 2012 10:24 am

Faridabad Master Plan'2031

Source : Dainik Jagran dated : 24.11.2012

http://www.jagran.com/haryana/faridabad-9874331.html

मास्टर प्लान : शहर से जुड़ेगा नोएडा व ग्रेनो

बिजेंद्र बंसल, फरीदाबाद मास्टर प्लान 2031 के तहत फरीदाबाद जिला की नोएडा व ग्रेटर नोएडा से सीधी कनेक्टिविटी होगी। इसमें फरीदाबाद से नोएडा के लिए गांव महावतपुर होते हुए कालिंदी कुंज तक और गांव जसाना रोड होते हुए उत्तर प्रदेश के गांव दनकौर की तरफ से ग्रेटर नोएडा के लिए 90 मीटर चौड़ी सड़कें बनाने का प्रस्ताव किया गया है। 2031 में अनुमानित 42 लाख की आबादी के लिए 55 गांवों में 72 नए सेक्टरों की प्रस्तावना इस मास्टर प्लान में की गई है। शुक्रवार को जिला स्तरीय कमेटी (डीएलसी) की बैठक में मास्टर प्लान की प्रस्तावना पर जिला उपायुक्त की अध्यक्षता में जनप्रतिनिधियों व अधिकारियों ने विस्तृत चर्चा की और अपने संशोधन रखे। उपायुक्त बलराज सिंह ने 29 नवंबर तक जनप्रतिनिधियों व अधिकारियों से संशोधन मांगे हैं ताकि उन्हें राज्य स्तरीय कमेटी (एसएलसी) की बैठक में चर्चा के लिए भेजा जा सके।
डीएलसी में जिला नगर योजनाकार संजीव मान ने बताया कि प्रस्तावित मास्टर प्लान में कुल क्षेत्रफल 74290 हेक्टेयर है। इसमें से 13 नियंत्रित क्षेत्रों का 63399 हेक्टेयर क्षेत्रफल शामिल किया गया है। बाकी जमीन को कृषि कार्य के लिए छोड़ गया है। रिहायशी सेक्टरों का घनत्व 300 व्यक्ति प्रति हेक्टेयर और औद्योगिक सेक्टरों से लगते चार रिहायशी सेक्टरों का घनत्व 600 व्यक्ति प्रति हेक्टेयर रखा गया है।
बदल सकता है चार सेक्टरों के अधिग्रहण का प्रस्ताव : मास्टर प्लान में चार सेक्टरों 119 (फफूंदा),126( शाहपुर कलां), 146 व 149 (सीकरी नंगला जोगियान)की जमीन मध्यम व निम्न वर्ग के लिए सरकार द्वारा जमीन अधिग्रहण का प्रस्ताव है। इस प्रस्ताव का भाजपा विधायक कृष्णपाल गुर्जर ने यह कहकर विरोध किया। किसानों की जमीन सरकारी स्तर पर अधिग्रहीत करने की बजाए यदि निजी बिल्डर खरीदेंगे तो उन्हें जमीन का उचित बाजार भाव मिल जाएगा। पूर्व मंत्री करण सिंह दलाल ने भी सरकार के स्तर पर चार सेक्टरों में जमीन अधिग्रहण करने की बजाए किसानों के अपने स्तर पर सेक्टर विकसित करने का प्रस्ताव किया है। सूत्र बताते हैं कि सरकार इस बाबत प्लान में संशोधन कर सकती है।

महानगरों की तर्ज पर होगा गे्रटर फरीदाबाद का स्वरूप :
मास्टर प्लान की प्रस्तावना में गे्रटर फरीदाबाद की सेक्टर विभाजक सड़कें 60 मीटर चौड़ी और सर्विस रोड 12 मीटर चौड़ी होंगी। सेक्टर के अंदर की सड़कें 24 मीटर चौड़ी और बाहरी सड़कें 90 मीटर चौड़ी होंगी। कोई भी सड़क 12 मीटर से कम चौड़ी नहीं होगी। इससे ग्रेटर फरीदाबाद का स्वरूप एक महानगर जैसा होगा।


नगर निगम ने रखे चार संशोधन : नगर निगम ने मास्टर प्लान में चार संशोधन दिए हैं। निगम के जिला नगर योजनाकार रवि सिंगला ने बताया कि निगम प्रशासन की तरफ से इसमें कहा गया है कि तिलपत शूटिंग रेंज के प्रतिबंधित क्षेत्र जहां अवैध कालोनियां विकसित हो गई हैं वहां रिहायशी जोन बना दिया जाना चाहिए ताकि निगम प्रशासन इन कालोनियों को मंजूर करा सके। इसी तरह एयरफोर्स स्टेशन के 900 मीटर दायरे में से 100 मीटर प्रतिबंधित को छोड़कर बकाया को रिहायशी जोन बना देना चाहिए ताकि वहां भी बने मकान नियमित किए जा सकें। सेक्टर-20 के कारखाना बाग क्षेत्र को पहले वाणिज्यिक क्षेत्र घोषित किया हुआ है मगर अब वहां वैध अवैध औद्योगिक इकाईयां बनी हैं इसलिए यहां का क्षेत्र औद्योगिक जोन बना देना चाहिए। मास्टर प्लान में नगर निगम ने प्रत्येक पांच लाख की आबादी पर एक जनउपयोगी क्षेत्र मांगा है। शारदा ने फ्रेट कॉरीडोर की लाइन का किया विरोध : मास्टर प्लान के मौजूदा स्वरूप में सुझाव के लिए आयोजित जिला स्तरीय कमेटी की बैठक में जनप्रतिनिधियों में मुख्य संसदीय सचिव शारदा राठौर ने भी अपने सुझाव दिए। उन्होंने डेडिकेटिड फ्रेट कॉरीडोर की लाइन का शहर के अंदर से निकाले जाने का विरोध किया। उनका कहना था कि फ्रेट कॉरीडोर यदि पृथला में बनाया जाए तो फिर निजामुद्दीन तक नई रेल लाइन की जरूरत ही नहीं पड़ेगी। इसके अलावा उन्होंने कहा कि जन सुविधाओं के लिए जमीन सेक्टर के एक कोने में नहीं होनी चाहिए। यह शहर के अलग-अलग हिस्सों में होनी चाहिए।
User avatar
yadav_ajay
GFWA Member
GFWA Member
 
Posts: 423
Joined: Sun Sep 05, 2010 6:53 pm

Re: Faridabad Master Plan 2031

Postby ruchirjain » Sat Nov 24, 2012 10:51 pm

This is very poor. There is no connectivity proposed with Noida across the Yamuna. They are talking about 2 things only:
1. Widening a road from Mahawatpur in neher paar to Kalindi Kunj... (but then crosses yamuna using the existing Okhla Barrage)
2. Connect Jasana with Dankaur. Dankaur is where JP Sports City is.. that means it is more like connecting with YEIDA instead of connecting with Gr. Noida.

If this news is correct, then it is shocking since they've not even cared to incorporate any connectivity with Noida or given any reference to that connection. At least the news seems to indicate that the Faridabad plan is created in isolation without taking any consideration the existing masterplan of Noida which proposed 2 bridges to connect Noida and Faridabad. The report seems to indicate that Faridabad authorities don't care at all about connecting with Noida.

All we've got here is using Kalindi Kunj and a new bridge to YEIDA.

yadav_ajay wrote:Faridabad Master Plan'2031

Source : Dainik Kagran dated : 24.11.2012

मास्टर प्लान : शहर से जुड़ेगा नोएडा व ग्रेनो

बिजेंद्र बंसल, फरीदाबाद मास्टर प्लान 2031 के तहत फरीदाबाद जिला की नोएडा व ग्रेटर नोएडा से सीधी कनेक्टिविटी होगी। इसमें फरीदाबाद से नोएडा के लिए गांव महावतपुर होते हुए कालिंदी कुंज तक और गांव जसाना रोड होते हुए उत्तर प्रदेश के गांव दनकौर की तरफ से ग्रेटर नोएडा के लिए 90 मीटर चौड़ी सड़कें बनाने का प्रस्ताव किया गया है। 2031 में अनुमानित 42 लाख की आबादी के लिए 55 गांवों में 72 नए सेक्टरों की प्रस्तावना इस मास्टर प्लान में की गई है। शुक्रवार को जिला स्तरीय कमेटी (डीएलसी) की बैठक में मास्टर प्लान की प्रस्तावना पर जिला उपायुक्त की अध्यक्षता में जनप्रतिनिधियों व अधिकारियों ने विस्तृत चर्चा की और अपने संशोधन रखे। उपायुक्त बलराज सिंह ने 29 नवंबर तक जनप्रतिनिधियों व अधिकारियों से संशोधन मांगे हैं ताकि उन्हें राज्य स्तरीय कमेटी (एसएलसी) की बैठक में चर्चा के लिए भेजा जा सके।
डीएलसी में जिला नगर योजनाकार संजीव मान ने बताया कि प्रस्तावित मास्टर प्लान में कुल क्षेत्रफल 74290 हेक्टेयर है। इसमें से 13 नियंत्रित क्षेत्रों का 63399 हेक्टेयर क्षेत्रफल शामिल किया गया है। बाकी जमीन को कृषि कार्य के लिए छोड़ गया है। रिहायशी सेक्टरों का घनत्व 300 व्यक्ति प्रति हेक्टेयर और औद्योगिक सेक्टरों से लगते चार रिहायशी सेक्टरों का घनत्व 600 व्यक्ति प्रति हेक्टेयर रखा गया है।
बदल सकता है चार सेक्टरों के अधिग्रहण का प्रस्ताव : मास्टर प्लान में चार सेक्टरों 119 (फफूंदा),126( शाहपुर कलां), 146 व 149 (सीकरी नंगला जोगियान)की जमीन मध्यम व निम्न वर्ग के लिए सरकार द्वारा जमीन अधिग्रहण का प्रस्ताव है। इस प्रस्ताव का भाजपा विधायक कृष्णपाल गुर्जर ने यह कहकर विरोध किया। किसानों की जमीन सरकारी स्तर पर अधिग्रहीत करने की बजाए यदि निजी बिल्डर खरीदेंगे तो उन्हें जमीन का उचित बाजार भाव मिल जाएगा। पूर्व मंत्री करण सिंह दलाल ने भी सरकार के स्तर पर चार सेक्टरों में जमीन अधिग्रहण करने की बजाए किसानों के अपने स्तर पर सेक्टर विकसित करने का प्रस्ताव किया है। सूत्र बताते हैं कि सरकार इस बाबत प्लान में संशोधन कर सकती है।

महानगरों की तर्ज पर होगा गे्रटर फरीदाबाद का स्वरूप :
मास्टर प्लान की प्रस्तावना में गे्रटर फरीदाबाद की सेक्टर विभाजक सड़कें 60 मीटर चौड़ी और सर्विस रोड 12 मीटर चौड़ी होंगी। सेक्टर के अंदर की सड़कें 24 मीटर चौड़ी और बाहरी सड़कें 90 मीटर चौड़ी होंगी। कोई भी सड़क 12 मीटर से कम चौड़ी नहीं होगी। इससे ग्रेटर फरीदाबाद का स्वरूप एक महानगर जैसा होगा।


नगर निगम ने रखे चार संशोधन : नगर निगम ने मास्टर प्लान में चार संशोधन दिए हैं। निगम के जिला नगर योजनाकार रवि सिंगला ने बताया कि निगम प्रशासन की तरफ से इसमें कहा गया है कि तिलपत शूटिंग रेंज के प्रतिबंधित क्षेत्र जहां अवैध कालोनियां विकसित हो गई हैं वहां रिहायशी जोन बना दिया जाना चाहिए ताकि निगम प्रशासन इन कालोनियों को मंजूर करा सके। इसी तरह एयरफोर्स स्टेशन के 900 मीटर दायरे में से 100 मीटर प्रतिबंधित को छोड़कर बकाया को रिहायशी जोन बना देना चाहिए ताकि वहां भी बने मकान नियमित किए जा सकें। सेक्टर-20 के कारखाना बाग क्षेत्र को पहले वाणिज्यिक क्षेत्र घोषित किया हुआ है मगर अब वहां वैध अवैध औद्योगिक इकाईयां बनी हैं इसलिए यहां का क्षेत्र औद्योगिक जोन बना देना चाहिए। मास्टर प्लान में नगर निगम ने प्रत्येक पांच लाख की आबादी पर एक जनउपयोगी क्षेत्र मांगा है। शारदा ने फ्रेट कॉरीडोर की लाइन का किया विरोध : मास्टर प्लान के मौजूदा स्वरूप में सुझाव के लिए आयोजित जिला स्तरीय कमेटी की बैठक में जनप्रतिनिधियों में मुख्य संसदीय सचिव शारदा राठौर ने भी अपने सुझाव दिए। उन्होंने डेडिकेटिड फ्रेट कॉरीडोर की लाइन का शहर के अंदर से निकाले जाने का विरोध किया। उनका कहना था कि फ्रेट कॉरीडोर यदि पृथला में बनाया जाए तो फिर निजामुद्दीन तक नई रेल लाइन की जरूरत ही नहीं पड़ेगी। इसके अलावा उन्होंने कहा कि जन सुविधाओं के लिए जमीन सेक्टर के एक कोने में नहीं होनी चाहिए। यह शहर के अलग-अलग हिस्सों में होनी चाहिए।
User avatar
ruchirjain
GFWA Member
GFWA Member
 
Posts: 13
Joined: Tue Jun 22, 2010 10:41 pm
Location: Faridabad

Re: Master Plan 2031 on papers

Postby dheerajjain » Sat Nov 24, 2012 11:08 pm

Good comments, @ruchir and nice to see your post. While it is appreciable that Greater Faridabad has been given status of big city, but ground realities does not match with this picture. This picture will only benefit builders and Govt. who having fooled all of us will try to fool again new home buyers. Govt. talks about 2031 plan but questions should be asked about implementation of 1991 Master Plan which was 0% implemented.
User avatar
dheerajjain
GFWA Member
GFWA Member
 
Posts: 2010
Images: 0
Joined: Mon Mar 15, 2010 4:55 pm
Location: Delhi

Re: Master Plan 2031 on papers

Postby abhimad » Sun Nov 25, 2012 9:00 am

I couldn't agree more with u... Bhaiyon apna paisa bachao... aur G NOIDA, NOIDA, Chandigarh ya kahin aur paisa lagao ... HUDA to luteron ki basti hai...
Rgds,
User avatar
abhimad
GFWA Member
GFWA Member
 
Posts: 70
Joined: Sun Sep 05, 2010 6:53 pm

Re: Master Plan 2031 on papers

Postby ruchirjain » Sun Nov 25, 2012 4:36 pm

BTW, I've marked the new sectors as per the news coming in the local papers.

Here is the Wikimapia link for Faridabad... zoom in to see the new sectors.
http://wikimapia.org/#lat=28.3386377&lo ... 12&l=0&m=b

...We can fine-tune the markings in the coming days as more accurate news comes out...
User avatar
ruchirjain
GFWA Member
GFWA Member
 
Posts: 13
Joined: Tue Jun 22, 2010 10:41 pm
Location: Faridabad

Re: Master Plan 2031 on papers

Postby yadav_ajay » Sat Jan 12, 2013 8:35 am

Link : http://navbharattimes.indiatimes.com/le ... 985388.cms

Dated : 2013.1.12

मेट्रोपॉलिटन कमिटी की मीटिंग के लिए लिखा लेटर

Jan 12, 2013,एनबीटी न्यूज ॥ फरीदाबाद :
मास्टर प्लान 2031 को जल्द प्रकाशित करने की कवायद टाउन एंड कंट्री प्लानिंग ने तेज कर दी है। डिस्ट्रिक्ट लेवल कमिटी ने प्लान को मंजूरी दे दी है। अब जल्द ही इसके लिए मेट्रोपॉलिटन कमिटी की मीटिंग का आयोजन किया जाना है। गुड़गांव जोन के कमिश्नर की अध्यक्षता में होने वाली इस मीटिंग को जल्द करने के लिए टाउन एंड कंट्री प्लानिंग के डायरेक्टर ने कमिश्नर को पत्र लिखा है।

फरीदाबाद में 32 हजार 618 हेक्टेयर जमीन के लिए मास्टर प्लान 2031 तैयार किया गया है। डिस्ट्रिक्ट लेवल कमिटी की मीटिंग के बाद इसके लिए मेट्रोपॉलिटन कमिटी की मीटिंग होनी थी, उसके बाद प्लान को स्टेट लेवल कमिटी में भेजा होता है। सूत्रों के अनुसार गुड़गांव जोन के कमिश्नर की अध्यक्षता में होने वाली मेट्रोपॉलिटन कमिटी की मीटिंग पेंडिंग चल रही है, लेकिन अब टाउन एंड कंट्री प्लानिंग के डायरेक्टर ने मीटिंग करने के लिए कमिश्नर के पास पत्र लिखा गया है। डीटीपी संजीव मान ने बताया कि मास्टर प्लान के लिए मेट्रोपॉलिटन कमिटी की मीटिंग जल्द से जल्द कराने के प्रयास किए जा रहे हैं। इस मीटिंग में प्लान को मंजूरी मिलने के बाद इसे स्टेट लेवल कमिटी के सामने रखा जाएगा और उसके बाद इसे प्रकाशित कर दिया जाएगा।
User avatar
yadav_ajay
GFWA Member
GFWA Member
 
Posts: 423
Joined: Sun Sep 05, 2010 6:53 pm

Re: Master Plan 2031 on papers

Postby rohit.mattoo » Sat Jan 12, 2013 10:33 pm

Don't understand what there is going to be with this 2031 masterplan . Masterplan for sectors 75 to 89 is already screwed up. Be ready for another govt irresponsibility show
User avatar
rohit.mattoo
GFWA Member
GFWA Member
 
Posts: 35
Joined: Sun Mar 13, 2011 8:43 pm

Re: Master Plan 2031 on papers

Postby gopalvijay » Sun Jan 13, 2013 12:31 pm

the haste in bringing out the master plan 2031 is nothing at all towards concern on development of Faridabad. It is in fact the greed of the present government to sell the land ( for future developments )now itself to the builders and collecting huge money.
User avatar
gopalvijay
GFWA Member
GFWA Member
 
Posts: 151
Joined: Fri Mar 04, 2011 5:01 pm

Re: Master Plan 2031 on papers

Postby naveenarichwal » Tue Jan 15, 2013 10:39 pm

What a waste of space . You should not discuss this bullshit
User avatar
naveenarichwal
GFWA Member
GFWA Member
 
Posts: 1102
Joined: Mon May 23, 2011 8:44 pm

Re: Master Plan 2031 on papers

Postby ruchirjain » Wed Jan 16, 2013 5:36 am

Guys, please don't undermine the importance of the master plan.
We need both a good plan and good execution. Just because we are failing in execution, we shouldn't just do away with the city planning.

If we are really concerned, we should go out and meet the administrators and T&CP and give our feedback on how the master plan can be improved and be made more practical. Once the plan is good, at least we can benchmark their execution and protest if they don't match up to the plan...
User avatar
ruchirjain
GFWA Member
GFWA Member
 
Posts: 13
Joined: Tue Jun 22, 2010 10:41 pm
Location: Faridabad

Re: Master Plan 2031 on papers

Postby yadav_ajay » Wed Jan 16, 2013 1:18 pm

Friends,

Working on Master plan2031 already started and some of Big Builders are now started planning to enter Faridabad market.

I have confirmed news on that and very soon you will see those name in Faridabad market.

Very soon, may be in a month or two you would see that master Plan published.

have you analyzed, why DGTCP writing Letter to Metropolitan Commissioner to clear the docks of Mater Plan??

Because lots of Land dealing involved in that master plan and preparation for Y'14 election already started.

So, you can understand the whole process.

But, due to all this, we would be getting some positive news on the development front very soon.
Some already started pouring in and some are in pipeline.

Will update on the same
User avatar
yadav_ajay
GFWA Member
GFWA Member
 
Posts: 423
Joined: Sun Sep 05, 2010 6:53 pm

Haryana Govt approved master plan 2031

Postby ashoka2002inin » Tue Feb 26, 2013 3:42 pm

फरीदाबाद।। फरीदाबाद मास्टर प्लान 2031 को हरियाणा सरकार ने ग्रीन सिग्नल दे दिया है, जिससे रीयल एस्टेट सेक्टर में नई जान लौटने की उम्मीद की जा रही है।

फरीदाबाद के रीयल एस्टेट डिवेलपर एसआरएस ग्रुप के चेयरमैन अनिल जिंदल का कहना है, 'मास्टर प्लान 2031 को मंजूरी मिलने से रीयल एस्टेट बिजनेस को फायदा होगा। इसका हमें लंबे समय से इंतजार था। ग्रेटर फरीदाबाद से मॉडर्न रेजिडेंशल एरिया, एजुकेशनल इंस्टिट्यूशंस और बिजनेस पार्क सहित अन्य रीयल्टी ऐक्टिविटी बढ़ेंगी।' जिंदल के मुताबिक, मास्टर प्लान के अप्रूवल से फरीदाबाद में रीयल एस्टेट बिजनेस 20 फीसदी तक बढ़ सकता है।

ओमैक्स लिमिटेड के यहां 8-10 रीयल एस्टेट प्रॉजेक्ट चल रहे हैं। इसके अडिशनल वाइस प्रेज़िडेंट सुरेंद्र गोयल का कहना है, 'मास्टर प्लान 2031 को मंजूरी मिलने से नहर पार और आईएमटी एरिया में भी डिवेलपमेंट का रास्ता साफ होगा। इससे डेवलपमेंट के लिए अधिक जमीन भी मिलेगी। मास्टर प्लान से फरीदाबाद में सेक्टरों की संख्या भी बढ़कर 171 तक हो जाएगी।'

गोयल ने बताया कि उनके आगामी प्रोजेक्ट से एंड यूजर्स को काफी फायदा होगा। उन्होंने बताया, 'इस प्लान के तहत हम नहर पार एरिया में कुछ और प्रॉजेक्ट डिवेलप कर रहे हैं। इसमें ओमैक्स हाइट्स, ओमैक्स न्यू हाइट्स, ओमैक्स स्पा विलेज और ओमैक्स सिटी शामिल हैं।'

इंडस्ट्री एक्सपर्ट्स का कहना है कि मास्टर प्लान को अप्रूवल मिलने से इस इलाके में जमीन की कीमत भी बढ़ेगी। सैनिक एस्टेट्स के रीयल एस्टेट ऐनालिस्ट प्रदीप मिश्रा ने बताया, 'एक एकड़ जमीन का दाम 2004-05 में 20 लाख रुपए था। अब यह 2.5 करोड़ रुपए है। फरीदाबाद में बीपीटीपी, ओमैक्स, अंसल और एसआरएस जैसे करीब 28 बिल्डर्स हैं।' उन्होंने बताया कि सेक्टर 82, 84, 85, 88, 75 और 76 को बतौर रेजिडेंशियल सेक्टर रखा गया है। मिश्रा का कहना है, 'नहर पार सेक्टर्स में प्लॉट रीसेल में मिल रहे हैं। यहां प्लॉट की कीमत 25,000-30,000 रुपए प्रति वर्ग गज है। सेकेंडरी मार्केट (रीसेल) में फ्लैट का दाम 2,700-3,100 रुपए प्रति वर्ग फुट है।'

गोयल के मुताबिक, दिल्ली-मुंबई इंडस्ट्रीयल रेल कॉरिडोर, फरीदाबाद और नोएडा के बीच के लिंक रोड, केएमपी (ईस्टर्न एक्सप्रेसवे) और कुछ दूसरे इंडस्ट्रियल और इंस्टिट्यूशनल एरिया का फायदा भी फरीदाबाद को मिलेगा। रीयल्टी कंपनियों का मानना है कि मास्टर प्लान से फरीदाबाद की कनेक्टिविटी दिल्ली, नोएडा, ग्रेटर नोएडा और गुड़गांव से बेहतर हो जाएगी। एसोटेक लिमिटेड के मैनेजिंग डायरेक्टर संजीव श्रीवास्तव का कहना है, 'हम अगले कुछ साल में 30-40 फीसदी बिजनेस बढ़ने का अनुमान कर रहे हैं।' रीयल्टी कंपनियों को कमर्शल ऐक्टिविटी भी बढ़ने की आस है। कंपनियां बिजनेस के लिए महंगे जसोला से फरीदाबाद की ओर शिफ्ट कर सकती हैं।
User avatar
ashoka2002inin
GFWA Member
GFWA Member
 
Posts: 66
Joined: Wed Jun 29, 2011 3:47 pm

Re: Faridabad Master Plan 2031 on papers

Postby RSHYAMGARG » Tue Feb 26, 2013 8:18 pm

Abhi tak to Master Plan 1991 bhi implement nahi hua. Master Plan 2031 will be implemented in 2081. It will benefit our grand-grand son. This is only to give license to the builder(cheater) to build fool to public.
User avatar
RSHYAMGARG
Senior Member
Senior Member
 
Posts: 86
Joined: Fri Mar 18, 2011 1:47 pm

Next

Return to Greater Faridabad News & Development

 


  • Related topics
    Replies
    Views
    Last post

Who is online

Users browsing this forum: No registered users and 0 guests

cron