Join us on Facebook
Become a GFWA member

Site Announcements

Invitation to RPS SAVANA Allottees to join Case in NCDRC against RPS Infrastructures Ltd


Have you submitted a rating and reviewed your project?
Rate & Review your project now! Submit your project and review.
Read Reviews! Share your feedback!


** Enhanced EDC Stayed by High Court **

Forum email notifications...Please read !
Carpool from Greater Faridabad to Noida
Carpool from Greater Faridabad to GGN


Advertise with us

Articles from print media

Metro connectivity to Greater Faridabad will be made easy

Postby rizgr8 » Wed Oct 19, 2011 2:16 pm

http://navbharattimes.indiatimes.com/de ... 404011.cms

सचिन हुड्डा ॥ फरीदाबाद
फरीदाबाद के लोगों के साथ-साथ नहर पार डिवेलप हो रहे ग्रेटर फरीदाबाद के लोगों की भी मेट्रो तक आसानी से पहुंच होगी। ग्रेटर फरीदाबाद को फरीदाबाद से जोड़ने के लिए बाईपास रोड पर 5 अलग-अलग पुल आगरा व गुड़गांव नहर पर बनाए जा रहे हैं। पहले यह पुल सिर्फ ग्रेटर फरीदाबाद को फरीदाबाद से जोड़ने का काम करते, लेकिन हूडा ने एनएच-2 पर बनने वाले मेट्रो स्टेशनों की पोजिशन को ध्यान में रखते हुए इन पुलों की लोकेशन की तलाश की है। इन पुलों के बन जाने के बाद ग्रेटर फरीदाबाद में डिवेलप होने वाले 15 सेक्टरों और दर्जनों हाउसिंग प्रोजेक्टों में रहने वाले लाखों लोगों का मेट्रो स्टेशनों तक पहुंचना आसान हो जाएगा।


जीपीएस से तलाशी गई लोकेशन
आगरा और गुड़गांव नहर पर हूडा ने 6 पुलों से फरीदाबाद से ग्रेटर फरीदाबाद की कनेक्टिविटी की योजना बनाई है। इसके लिए जीपीएस से हूडा ने पुलों की लोकेशन तलाशी है। इन लोकेशंस के हिसाब से एक पुल पहले ही नहर पार डिवेलप कर रही बिल्डर कंपनी आगरा और गुड़गांव नहर पर बना चुकी है। अब हूडा को पांच पुल बनाने हैं। हूडा के अनुसार इन सभी पुलों की लंबाई लगभग 150 मीटर होगी और एक पुल के निर्माण में लगभग 15 करोड़ रुपये खर्च होंगे।

मेट्रो स्टेशनों की दूरी होगी कम
इन पुलों के बन जाने के बाद जहां ग्रेटर फरीदाबाद से फरीदाबाद की कनेक्टिविटी बेहतर होगी, वहीं ग्रेटर फरीदाबाद में रहने वालों को फरीदाबाद में बनने वाले मेट्रो स्टेशनों तक पहुंचने में आसानी होगी। हूडा ने पुलों का निर्माण करने के लिए फरीदाबाद की तरफ से बाईपास रोड पर मिलने वाली कई मुख्य डिवाइडिंग रोड का चुनाव किया है। ये सभी डिवाइडिंग रोड नैशनल हाइवे पर सभी मुख्य चौराहों पर आकर मिलती हैं जिनके आसपास मेट्रो स्टेशन प्रस्तावित हैं।

यहां यहां बनेंगे पुल
दिल्ली की तरफ से आते समय सबसे पहले कनेक्टिविटी प्रस्तावित बड़खल मेट्रो स्टेशन के पास होगी। नहर पार के सेक्टर -87 के पास मास्टर रोड से पुल बनाया जाएगा जो फरीदाबाद सेक्टर - 29 और भूड़ कॉलोनी की डिवाइडिंग रोड पर आकर मिलेगा। यह रोड सीधा बड़खल चौक पर आकर मिलता है , जहां मेट्रो स्टेशन प्रस्तावित है।

दूसरा पुल ग्रेटर फरीदाबाद के सेक्टर 86-87 की डिवाइडिंग रोड से शुरू होकर आगरा और गुड़गांव नहर के ऊपर से बाईपास रोड पर फरीदाबाद में सेक्टर 17 और 18 के डिवाइडिंग रोड पर आकर मिलेगा। यह रोड सीधा ओल्ड फरीदाबाद चौक पर आकर मिलता है , जहां पर मेट्रो स्टेशन प्रस्तावित है।

इसके बाद एक पुल नहर पार मास्टर रोड को फरीदाबाद से सेक्टर 17 और 14 की डिवाइडिंग रोड को जोड़ेगा। यह रोड सेक्टर 16 ए और 15 ए के पास आकर एनएच पर मिलेगा। यहां से कुछ ही दूरी पर अजरौंदा मेट्रो स्टेशन प्रस्तावित है। सेक्टर 14 और 13 की डिवाइडिंग रोड पर पहले ही एक पुल बना हुआ है जो ग्रेटर फरीदाबाद में जाकर मिलता है। यह पुल नैशनल हाइवे पर सेक्टर 12 के पास आकर मिलता है। जहां से न्यू टाउन ( बाटा ) और अजरौंदा मेट्रो स्टेशनों की दूरी काफी कम रह जाएगी।

एक पुल ग्रेटर फरीदाबाद से सेक्टर 75 और 80 की डिवाइडिंग रोड पर मास्टर रोड को बाईपास पर फरीदाबाद से सेक्टर 8 और 9 की डिवाइडिंग रोड पर जोड़ेगा। यह रोड सीधा नैशनल हाइवे के वाईएमसीए चौक पर आकर मिलेगा जहां पर मेट्रो का अंतिम स्टेशन प्रस्तावित है।

अंतिम पुल ग्रेटर फरीदाबाद के सेक्टर -74 और 75 की डिवाइडिंग रोड को फरीदाबाद के सेक्टर 8 और 3 की डिवाइडिंग रोड से जोड़ेगा। यह रोड सीधा नैशनल हाइवे पर गुडइयर चौक पर मिलता है। यहां से वाईएमसीए मेट्रो स्टेशन की दूरी काफी कम हैै।

जल्द शुरू होगा काम
हूडा प्रशासक अजित बालाजी जोशी का कहना है कि ग्रेटर फरीदाबाद जल्द ही डिवेलप हो जाएगा और यह फरीदाबाद का काफी विकसित क्षेत्र होगा। इसलिए यहां के लोगों को भी बेहतर सुविधाएं मिलनी चाहिए। इसे ध्यान में रखते हुए हमने पुलों के लिए ऐसी लोकेशन तलाशी है . जहां से फरीदाबाद से तो ग्रेटर फरीदाबाद की कनेक्टिविटी बेहतर हो सके , साथ में मेट्रो स्टेशनों से भी ग्रेटर फरीदाबाद सीधा कनेक्ट हो सके। जिन चौराहों पर से पुल आकर मिलेंगे , उन सभी चौराहों के आसपास ही मेट्रो स्टेशन प्रस्तावित हैं। इससे लोगों को काफी सहूलियत होगी। उन्होंने बताया कि पुलों का बजट तैयार किया जा रहा है। बजट को मंजूरी मिलने के बाद जल्द की इनके निर्माण का काम शुरू कर दिया जाएगा।


अनुमानित दूरी
बड़खल चौक से बाईपास रोड की अनुमानित दूरी लगभग डेढ़ किमी

ओल्ड फरीदाबाद से बाईपास की अनुमानित दूरी लगभग डेढ़ किमी

सेक्टर 16- ए पर बने चौराहे से बाईपास रोड की दूरी लगभग डेढ़ किमी

सेक्टर -12 के पास बने चौराहे से बाईपास रोड की दूरी लगभग डेढ़ किमी

बाईएमसीए चौक से बाईपास रोड की दूरी लगभग पौने दो किमी

गुडईयर चौक से बाईपास रोड की अनुमानित दूरी लगभग ढाई कि मी
User avatar
rizgr8
GFWA Member
GFWA Member
 
Posts: 79
Joined: Fri Jul 15, 2011 6:58 pm
Location: New Delhi

Re: Metro connectivity to Greater Faridabad will be made easy

Postby rajveer.singh » Tue Mar 13, 2012 8:12 am

उद्योग नगरी में 15 मीटर की ऊंचाई पर दौड़ेगी मेट्रो


उद्योग नगरी में 15 मीटर की ऊंचाई पर दौड़ेगी मेट्रो

इमरान खान त्न फरीदाबाद
शहरवासियों को एनसीआर में सबसे ऊंची मेट्रो की सवारी करने का मौका मिलेगा। डीएमआरसी ने सिक्स लेन हाइवे और ट्रैफिक की समस्या सुलझाने के लिए इसकी लंबाई में फेरबदल किया है। नई योजना के तहत फरीदाबाद मेट्रो 15 मीटर ऊंचे बने ट्रैक पर दौड़ लगाएंगी।हालांकि राजा गार्डन और कड़कडड़ूमा में कुछ स्थान पर जरूर मेट्रो की ऊंचाई इससे ज्यादा है।

गौरतलब है कि एनएचएआई ने हाल ही में बार्डर-सराय पर पिलर बनाए जाने के लिए जगह चिंहित की थी। एनएचएआई अधिकारियों ने सिक्सलेन बनने में रुकावट और दूरी को लेकर आपत्ति जताई थी। इस पर डीएमआरसी अधिकारियों ने कहा था कि उनकी सौंपी डीपीआर के अनुसार ही कार्य किया जा रहा है। वह इस विवाद को सुलझाने का प्रयास करेंगे। सूत्रों के अनुसार एनएचएआई से इस विषय को लेकर बात चल रही है, लेकिन डीएमआरसी ने फरीदाबाद मेट्रो की ऊंचाई में फेरबदल किया है। जिसके तहत ऊंचाई औसतन 15 मीटर रखी जाएगी और दो पिलर के बीच की दूरी भी 25 मीटर से अधिक होगी। सूत्रों का कहना है कि इससे सिक्स लेन के कार्य या फ्लाईओवर के निर्माण पर ट्रैफिक में बाधा नहीं आएगी, बल्कि नेशनल हाइवे सिक्स लेन बनने के बाद उससे भी ज्यादा चौड़ी सड़कें वाहनों को मिल सकेगी।

उल्लेखनीय है कि बदरपुर से फरीदाबाद के वाईएमसीए चौक बल्लभगढ़ तक 13.875 किलोमीटर लंबी मेट्रो लाइन की योजना है। जिसकी डेडलाइन अब 2016 है। तकरीबन 2200 करोड़ रुपए को नेशनल हाइवे को सिक्सलेन करने का प्रोजेक्ट है। जिसके तहत फरीदाबाद बॉर्डर से आगरा तक 25 फ्लाईओवर, 61अंडर पास, 32 व्हीकुलर्स एवं गांवों को जोडऩे के लिए 76 जंक्शन बनाए जाने हैं। दिल्ली रोड ट्रैफिक इंस्टीट्यूट के सर्वे के अनुसार फरीदाबाद से पीक ऑवर के सात घंटों में 2.70 लाख लोग अवागमन करते हैं। वहीं नेशनल हाइवे से दो लाख वाहन रोज बाहरी प्रदेशों के गुजरते हैं।

ऐसे रखे जाएंगे गार्डर: दो पिलर के बीच 25 मीटर से अधिक के गार्डर लगाए जाएंगे। इसे लगाने के लिए लांचर मशीन की जरूरत नहीं पड़ेगी। इसे बीओटी तर्ज पर इन पिलर पर रख दिया जाएगा। इस तकनीक से लगे गार्डर अधिक होंगे।
User avatar
rajveer.singh
GFWA Member
GFWA Member
 
Posts: 15
Joined: Sat Mar 26, 2011 12:49 pm


Return to News Articles

 


  • Related topics
    Replies
    Views
    Last post

Who is online

Users browsing this forum: No registered users and 0 guests