Join us on Facebook
Become a GFWA member

Site Announcements

Invitation to RPS SAVANA Allottees to join Case in NCDRC against RPS Infrastructures Ltd


Have you submitted a rating and reviewed your project?
Rate & Review your project now! Submit your project and review.
Read Reviews! Share your feedback!


** Enhanced EDC Stayed by High Court **

Forum email notifications...Please read !
Carpool from Greater Faridabad to Noida
Carpool from Greater Faridabad to GGN


Advertise with us

Discuss, get the latest news and developments in the Greater Faridabad region

Home buyers trapped in Builders Chakravyuh

Postby dheerajjain » Wed May 06, 2015 7:09 am

http://navbharattimes.indiatimes.com/st ... 150532.cms


बिल्डर के चक्रव्यूह में फंसा गृह प्रवेश

एनबीटी न्यूज, फरीदाबाद

एनसीआर में बहुत से प्राइवेट बिल्डरों ने लोगों को सस्ता घर उपलब्ध कराने का सपना दिखाए थे। फरीदाबाद में भी बहुत से बिल्डरों ने लोगों के इन्हीं सपनों पर बहुमंजिला इमारतों की बुनियाद रखी। लेकिन सालों गुजर जाने के बाद भी फरीदाबाद में केवल 10 प्रतिशत लोगों के ही सपने पूरे हो पाए हैं। हजारों लोग अभी भी अपने मकान का सपना देख रहे हैं और उन्हें यह भी नहीं पता है कि उनका सपना कब पूरा होगा।

ग्रेफ में डिवेलपमेंट कर रहे प्राइवेट बिल्डर

फरीदाबाद में सबसे अधिक डिवेलपमेंट ग्रेटर फरीदाबाद में हो रहा है। यहां पर लगभग 2500 एकड़ जमीन पर प्राइवेट बिल्डर गगनचुंबी इमारतें खड़ी कर रहे हैं। यहां पर लगभग 30 सोसायटियां डिवेलप की जा रही हैं। 2006 से यहां पर डिवेलपमेंट शुरू हुई है और लगभग 50 हजार लोगों को यहां पर फ्लैट या प्लॉट दिए जाने हैं। लेकिन अभी तक यहां पर लगभग 10 प्रतिशत लोगों को ही घर मिल पाएं हैं। बिल्डरों से परेशान लोगों ने ग्रेटर फरीदाबाद वेलफेयर असोसिएशन बनाई हुई है।

5 से 6 हजार लोगों को मिले हैं फ्लैट

असोसिएशन के सचिव अजय यादव कहते हैं कि लोगों से 2009 तक पजेशन देने का वादा बिल्डर ने किया था। लेकिन उस समय तक किसी भी बिल्डर ने पजेशन नहीं दिया था। तब से अब तक हम लगातार संघर्ष कर रहे हैं। अभी तक कोई भी बिल्डर ऐसा नहीं है, जिसने 100 प्रतिशत पजेशन लोगों को दे दिया हो। किसी ने अपने फ्लैटों में 10 प्रतिशत पजेशन दिया है, तो किसी ने 5 से 7 प्रतिशत की पजेशन लोगों को दिया है। अभी तक केवल 5 से 6 हजार लोगों को ही अपने मकान मिले हैं। पेमेंट पूरी देने के बाद भी लोगों को घर नहीं मिल रहा।

क्या कहते हैं अधिकारी

सीनियर टाउन प्लानर भुवनेश कुमार सैनी का कहना है कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुसार बिल्डर्स और बायर्स के बीच में टाउन एंड कंट्री प्लानिंग का कोई रोल नहीं रह जाता है। अब बिल्डरों की तरफ से बायर्स को कोई भी दिक्कत होती है, तो वह कंस्यूमर फोरम में जा सकते हैं या फिर कोर्ट में बिल्डर के खिलाफ लड़ाई जारी रख सकते हैं।

Comment: Clear Shirking of responsibility. Licences are issued by Town and Country Planning for 2 years which can be renewed by 2 years. Hence, builders have to complete the project within 4 years but TCP keeps on renewing licences indefinitely without demanding answers from builders and not taking care of interest of home buyers

केस स्टडी

मैने 2007 में सेक्टर 88 में ग्रेटर फरीदाबाद में एक बिल्डर के यहां अपना फ्लैट बुक कराया था। उस समय बिल्डर ने 3 साल में पजेशन देने का वादा किया था। लेकिन 7 साल से अधिक का समय होने के बाद भी अभी तक हमें पजेशन नहीं मिला है। बिल्डर हमें फ्लैट तो दे नहीं रहा, बल्कि प्रोजेक्ट कॉस्ट बढ़ने के नाम पर अलग से 3 लाख 25 हजार रुपये की मांग कर रहा है। - सीमा जोशी

Comment: This project is RPS Savana

मैंने 2011 में सेक्टर 76 ग्रेटर फरीदाबाद में अपना फ्लैट बुक कराया था। 36 महीने में मुझे फ्लैट देने का वादा किया गया था, लेकिन अभी तक हमें पजेशन नहीं मिला है। हमारी सोसायटी के निर्माण का केवल 10 प्रतिशत ही काम हुआ है। ऐसे में लगता है कि अभी कई साल और पजेशन का इंतजार हम लोगों को करना होगा। बिल्डरों के खिलाफ सरकार को कोई ठोस कार्रवाई करनी चाहिए। - हरेंद्र भाटिया

मैंने 2007 में सेक्टर 89 की एक सोसायटी में फ्लैट बुक कराया था और मैं खुद किराए के मकान में गुड़गांव रह रहा हूं। हम लोग अभी तक 92 प्रतिशत पैसा बिल्डर को दे चुके हैं, लेकिन अभी तक हमें अपने फ्लैट का पजेशन नहीं मिला है। जहां एक तरफ फ्लैट के लिए समय-समय पर बिल्डर को पैसा देना पड़ रहा है, वहीं दूसरी तरफ मकान का किराया भी देना पड़ रहा है। - रोहित सिंह

Comment: This project is Piyush Heights



User avatar
dheerajjain
GFWA Member
GFWA Member
 
Posts: 2010
Images: 0
Joined: Mon Mar 15, 2010 4:55 pm
Location: Delhi

Re: Home buyers trapped in Builders Chakravyuh

Postby RSHYAMGARG » Thu May 07, 2015 1:28 pm

These builders never got approved their building plan from competent authority before start of work. They after completion of building get the illegal construction compounded by paying nominal penality. This action of builder benefit then many folds.
User avatar
RSHYAMGARG
Senior Member
Senior Member
 
Posts: 86
Joined: Fri Mar 18, 2011 1:47 pm


Return to Greater Faridabad News & Development

 


  • Related topics
    Replies
    Views
    Last post

Who is online

Users browsing this forum: No registered users and 2 guests

cron