Join us on Facebook
Become a GFWA member

Site Announcements

Invitation to RPS SAVANA Allottees to join Case in NCDRC against RPS Infrastructures Ltd


Have you submitted a rating and reviewed your project?
Rate & Review your project now! Submit your project and review.
Read Reviews! Share your feedback!


** Enhanced EDC Stayed by High Court **

Forum email notifications...Please read !
Carpool from Greater Faridabad to Noida
Carpool from Greater Faridabad to GGN


Advertise with us

Discuss, get the latest news and developments in the Greater Faridabad region

Re: Preparations on by HUDA for acquisition of land in Neharpar

Postby pgarg2000 » Thu May 26, 2011 8:41 pm

Not very good news ...

http://in.jagran.yahoo.com/news/local/h ... 165_1.html

मास्टर रोड का एस्टीमेट तैयार होने में लगेगा समय
May 26, 06:33 pm

नहरपार क्षेत्र में विकास कार्य शुरू होने में अभी वक्त लगेगा। मास्टर रोड का कब्जा लेने के बाद सड़कों की अलाइनमेंट का सर्वे होगा, जिसे पूरा होने में दो महीने से ज्यादा समय लग सकता है। सर्वे पूरा होने के बाद ही मास्टर रोड का एस्टीमेट तैयार हो सकेगा।

फिलहाल मास्टर रोड के लिए कब्जा लेने की कार्रवाई अपने अंतिम चरण में है। हुडा अधिकारियों के अनुसार कुल 52 किलोमीटर रास्ते में से करीब 45 किलोमीटर भूमि का कब्जा ले लिया गया है। विभाग के सामने कब्जा लेने में एक बड़ा रोड़ा है। सेक्टर- 75 व 80 का मुआवजा बढ़ाने की मांग को लेकर किसानों का विरोध जारी है। जब तक यह मामला सुलझ नहीं जाता तब तक कब्जा लेने की कार्रवाई पूरी नहीं हो सकती।

हुडा के एक अधिकारी ने बताया कि कब्जा लेने के बाद सड़कों के अलाइनमेंट का सर्वे किया जाएगा। कहां सड़क कितनी चौड़ी होगी, कहां कम चौड़ी, सड़क की लंबाई, मिट्टी की जांच आदि प्रक्रिया में कम से कम डेढ़ से दो महीने का समय लगेगा। इसके बाद जाकर सड़क का एस्टीमेट तैयार होगा। बहरहाल सड़कों के लिए भूमि का कब्जा लेने की कार्रवाई जोरों पर है। यदि जल्द ही सेक्टर- 75 व 80 का विवाद नहीं सुलझा तो उच्चाधिकारियों से अनुमति लेकर बाकी की सड़क का निर्माण शुरू कर दिया जाएगा।
User avatar
pgarg2000
Senior Member
Senior Member
 
Posts: 362
Joined: Fri Dec 10, 2010 10:52 am

Re: Preparations on by HUDA for acquisition of land in Neharpar

Postby Nitin80 » Thu May 26, 2011 9:09 pm

Atlast, they are moving in right direction but slower than our expectations....
User avatar
Nitin80
Junior Member
Junior Member
 
Posts: 6
Joined: Mon May 09, 2011 9:24 pm

Re: Preparations on by HUDA for acquisition of land in Neharpar

Postby pgarg2000 » Tue May 31, 2011 9:21 am

http://in.jagran.yahoo.com/news/local/h ... 97728.html

सेक्टर 75 व 80 का कब्जा नहीं लेने देंगे किसान

May 30, 08:16 pm

हुडा विभाग ने भले ही नहरपार मास्टर रोड के लिए कब्जा ले लिया हो लेकिन किसान अब भी सेक्टर 75 व 80 के लिए कब्जा देने के लिए तैयार नहीं है। किसानों का कहना है कि जब तक सरकार किसानों को भूमि का मुआवजा सर्कल रेट के अनुसार नहीं देती, तब तक वह प्रशासन को भूमि का कब्जा नहीं लेने देंगे।

किसान संघर्ष समिति के कार्यकारी अध्यक्ष शिवदत्त वशिष्ठ ने कहा कि प्रशासन ने आईएमटी और पलवल के किसानों को गुमराह करके आपसी राजीनामा करा तो लिया लेकिन जब तक नहरपार जमीन का मुआवजा एक समान नहीं दिया जाता तब तक किसान प्रशासन को कब्जा नहीं लेने देंगे।
User avatar
pgarg2000
Senior Member
Senior Member
 
Posts: 362
Joined: Fri Dec 10, 2010 10:52 am

Re: Preparations on by HUDA for acquisition of land in Neharpar

Postby vinitanandwani » Thu Jun 02, 2011 9:46 am

http://epaper.bhaskar.com/cph/Details.a ... 2125647625



लाल डोरा के आसपास न हो अधिग्रहण’


फरीदाबाद. नहरपार ग्रेटर फरीदाबाद किसान संघर्ष समिति के कार्यकारी अध्यक्ष शिवदत्त वशिष्ठ, रतन सिंह एडवोकेट सहित एक प्रतिनिधिमंडल डीसी डॉ. प्रवीण कुमार से मिला। डीसी से उन्होंने आग्रह किया कि नहरपार सेक्टर-81, 82, 83 के लिए भतोला, बुढ़ैना, छोटी खेड़ी आदि गांवों के लिए सेक्शन चार लगाने की तैयारी हो रही है। उन्होंने यह मांग किया कि आगे से जिस भी गांव की जमीन अधिग्रहित की जाए, उस गांव के लाल डोरे की जमीन के चारों तरफ दो-दो एकड़ तक जमीन छोड़ी जाए ताकि गांव के किसान इस जमीन पर नई आबादी बसा सकें। डीसी ने इनको आश्वासन दिया कि योजना के रास्ते में जो निर्माण आएंगे, उनका अधिग्रहण नहीं किया जाएगा। इस मांगपत्र की एक कॉपी सीएम को भी भेजी गई है।
User avatar
vinitanandwani
GFWA Member
GFWA Member
 
Posts: 156
Images: 8
Joined: Tue Mar 08, 2011 4:25 pm

Re: Preparations on by HUDA for acquisition of land in Neharpar

Postby amathur.bernafon » Thu Jun 02, 2011 11:37 am

:@ :@ :@

We have paid:-
Money to builders - Not got any thing
EDC to HUDA - No Developmet

HUDA Paid Compensation to farmers and got :-

http://epaper.bhaskar.com/cph/Details.a ... 6142515281

हुडा की टीम को किसानों ने खदेड़ा

भास्कर न्यूज & फरीदाबाद

नहरपार प्रस्तावित मास्टर रोड के अधिग्रहण में फिर रोड़ा अटक गया है। सोमवार को सेक्टर-७४-७५ की डिवाडिंग रोड पर कब्जा लेने हुडा की टीम पहुंची तो वहां नहरपार किसान संघर्ष समिति के कार्यकारी अध्यक्ष शिवदत्त वशिष्ठ के नेतृत्व में सैकड़ों किसानों ने काम रुकवा दिया। इसके बाद वहां मौजूद कर्मियों को धमकी देकर खदेड़ दिया गया साथ ही दोबारा यहां न आने की चेतावनी दी। मौके पर पैमाइश के लिए गाड़े गए खंभों को भी गुस्साए किसानों ने उखाड़ फेंका। किसानों ने चेतावनी दी है कि जब तक उचित मुआवजा तय नहीं हो जाता, किसान जमीन पर कब्जा नहीं देंगे।

किसान नेताओं का आरोप : वशिष्ठ व मनोज यादव का कहना है कि हुडा द्वारा अधिग्रहण के मुद्दे पर बरते गए दोहरे रवैये के कारण वे किसी भी हालत में यहां जमीन पर कब्जा नहीं लेने देंगे। सेक्टर-७५ व ८० को भी किसी हालत में विकसित नहीं होने दिया जाएगा। दो साल पहले नहरपार सेक्टर-७५ व ८० के लिए जमीन का अधिग्रहण १६ लाख रुपए प्रति एकड़ के हिसाब से किया गया था लेकिन हुडा ने मास्टर रोड के लिए १९ गांवों की जमीन अधिग्रहण की प्रक्रिया शुरू की तो यहां किसानों को ४२ लाख रुपए का मुआवजा प्रति एकड़ दिया गया तो उनको भी बढ़ा हुआ मुआवजा मिलना चाहिए। इस बारे में कई बार रोष प्रदर्शन हो चुके हैं और डीसी को ज्ञापन भी दिए गए हैं लेकिन अभी तक कोई हल नहीं हुआ है।


The delay tactice and wait for further increase in land price and demand for further compensation where already collected Rs.42 Lacs per Acer
User avatar
amathur.bernafon
GFWA Member
GFWA Member
 
Posts: 19
Joined: Tue Mar 29, 2011 5:49 pm

Re: Preparations on by HUDA for acquisition of land in Neharpar

Postby pgarg2000 » Tue Jun 14, 2011 12:11 pm

http://navbharattimes.indiatimes.com/de ... 839566.cms

मास्टर रोड के अलाइनमेंट में हुए बदलाव14 Jun 2011, 0400 hrs IST

नहर पार मास्टर रोड के अलाइनमेंट में कई जगह हूडा ने बदलाव किया है। इसकी लंबाई भी लगभग 2.7 किलोमीटर कम की गई है। कई जगह जहां सीधी रोड थी , वहां थोड़ा मोड़ देकर अलाइनमेंट में बदलाव किया गया है। मास्टर रोड के रास्ते में आने वाले मकानों को बचाने और कुछ अन्य कारणों के चलते ऐसा किया गया है।

ग्रेटर फरीदाबाद में डिवेलप होने वाले सेक्टरों को जोड़ने के लिए 52 किलोमीटर लंबे मास्टर रोड का निर्माण हो रहा है। इसके लिए नहर पार के 19 गांवों की 1029 एकड़ जमीन एक्वायर की गई है। हूडा ने जमीन एक्वायर करने की प्रकिया पूरी कर ली है और किसानों ने मुआवजा भी उठा लिया है। हालांकि काफी समय से मास्टर रोड के निर्माण को लेकर किसानों का विरोध जारी है। एक तरफ तो किसान मुआवजा बढ़ाने की मांग पर अडे़ हैं और दूसरी तरफ उनकी मांग है कि इसके रास्ते में आने वाले घरों को न तोड़ा जाए। यही वजह है कि हूडा ने मास्टर रोड के अलाइनमेंट में फेरबदल किया है।

बदलाव

मास्टर रोड की दूरी घट कर 42.2 किलोमीटर रह गई है। इसकी मेन रोड पर अलाइनमेंट में सेक्टर -87 के पास 225 मीटर का बदलाव और सेक्टर -78 के पास 500 मीटर का बदलाव कर अंदर की तरफ खिसका दिया है। सेक्टर -87 और 89 के डिवाइडिंग रोड पर 700 मीटर लंबे रोड को सेक्टर -89 की तरफ बढ़ा दिया है। सेक्टर -87 और 86 की डिवाइडिंग रोड में बदलाव करते हुए 320 मीटर लंबे रोड को सेक्टर -86 की तरफ बढ़ाया गया है। इसके अलावा , सेक्टर -82 और 83 के डिवाइडिंग रोड को 500 मीटर सेक्टर -83 की तरफ , सेक्टर -81 और 86 के डिवाइडिंग पर 560 मीटर लंबे रोड को सेक्टर -81 की तरफ और सेक्टर -76 और 77 के डिवाइडिंग रोड पर 550 मीटर लंबे रोड को सेक्टर -76 की तरफ बढ़ा दिया गया है। हूडा अधिकारियों का कहना है कि जरूरत पड़ने पर आगे भी इसमें बदलाव की संभावनाएं हैं।
User avatar
pgarg2000
Senior Member
Senior Member
 
Posts: 362
Joined: Fri Dec 10, 2010 10:52 am

Re: Preparations on by HUDA for acquisition of land in Neharpar

Postby dheerajjain » Tue Jun 14, 2011 10:13 pm

Hi pgarg2000, good to see your post after many days and congrats for your 100th post :)

Initial figures for length of master road was 52 kms. Now, it has been reduced to 42 kms. Where has 10 kms gone? We should visit HUDA office and ask for updated layout plan.
User avatar
dheerajjain
GFWA Member
GFWA Member
 
Posts: 2010
Images: 0
Joined: Mon Mar 15, 2010 4:55 pm
Location: Delhi

Re: Preparations on by HUDA for acquisition of land in Neharpar

Postby pgarg2000 » Tue Jun 14, 2011 11:22 pm

this article is self contradictory...it mentions that length has been reduced by 2.7 km and then it says length has been reduced to 42Km...doesn't add up !!!
User avatar
pgarg2000
Senior Member
Senior Member
 
Posts: 362
Joined: Fri Dec 10, 2010 10:52 am

Re: Preparations on by HUDA for acquisition of land in Neharpar

Postby yadav_ajay » Wed Jun 15, 2011 11:59 am

Still there in no light on the Land acquisition progress in Sector 75 and 80.

Source : Dainik Jagran Faridabad edition.15.6.11
You do not have the required permission to view the files attached to this post. Read FAQs
Or you must LOGIN or REGISTER to view these files.
User avatar
yadav_ajay
GFWA Member
GFWA Member
 
Posts: 423
Joined: Sun Sep 05, 2010 6:53 pm

Re: Preparations on by HUDA for acquisition of land in Neharpar

Postby vinitanandwani » Wed Jun 15, 2011 2:55 pm

मास्टर रोड की लंबाई करनी पड़ी कम
भास्कर न्यूज & फरीदाबाद

नहरपार प्रस्तावित मास्टर रोड की लंबाई को कम कर दिया गया है। यही नहीं मास्टर रोड की अलाइनमेंट में कई जगह बदलाव किए गए हैं। यह सब यहां मकानों व अन्य निर्माणों को बचाने के लिए किया गया है। कम मुआवजे को लेकर अभी यहां किसानों का विरोध नहीं थमा है, इसलिए प्रशासन नहीं चाहता कि मकानों व निर्माणों को लेकर कोई बखेड़ा खड़ा हो। इसलिए यहां हुडा अधिकारी कोई भी प्लानिंग बनाते समय बड़ी सावधानी बरत रहे हैं। यही कारण है कि यहां मास्टर रोड की कई बार प्लानिंग तैयार की गई है। पहले मास्टर रोड की कुल लंबाई 52 किलोमीटर थी, लेकिन अब इसमें से दो से ढाई किलोमीटर लंबाई कम कर दी गई है।

कहां-कहां किया बदलाव

सेक्टर-87 से गुजरने वाली मास्टर रोड के मेन रोड पर 225 मीटर का बदलाव किया गया है। इसके अलावा मेन रोड में सेक्टर-78 के पास अलाइनमेंट में 500 मीटर का बदलाव कर इसे अंदर की तरफ कर दिया गया है। सेक्टर-87 और 89 के डिवाइडिंग रोड पर अलाइनमेंट को बदलते हुए 700 मीटर लंबे रोड को सेक्टर-89 की तरफ बढ़ा दिया गया है। सेक्टर- 87 और 86 की डिवाइडिंग रोड में बदलाव करते हुए 320 मीटर लंबे रोड को सेक्टर-86 की तरफ बढ़ाया गया है। इसके अलावा सेक्टर-82 और 83 के डिवाइडिंग रोड को 500 मीटर सेक्टर 83 की तरफ, सेक्टर 81 और 86 के डिवाइडिंग पर 560 मीटर लंबे रोड को सेक्टर-81 की तरफ और सेक्टर-76 और 77 के डिवाइडिंग रोड पर 550 मीटर लंबे रोड को सेक्टर-76 की तरफ बढ़ा दिया गया है।

अभी ये बदलाव फाइनल नहीं है। इसके अलावा और भी कई जगह बदलाव किए जा सकते हैं। हुडा की सर्वे ब्रांच के एसडीओ अजीत सिंह ने बताया कि उनके पास आदेश आए थे कि नहरपार का सर्वे किया जाए। यह सर्वे यहां मास्टर रोड के रास्ते में आ रहे निर्माणों को लेकर किया गया था। जहां-जहां निर्माण आ रहे थे, उनकी रिपोर्ट बनाकर अधिकारियों को सौंप दी गई है। इसके बाद इसमें कुछ बदलाव कर दिए गए। फिलहाल मास्टर रोड पर कब्जा लेने की प्रक्रिया जारी है।
User avatar
vinitanandwani
GFWA Member
GFWA Member
 
Posts: 156
Images: 8
Joined: Tue Mar 08, 2011 4:25 pm

Re: Preparations on by HUDA for acquisition of land in Neharpar

Postby vinitanandwani » Wed Jun 15, 2011 2:59 pm

कब्जा लेना प्रशासन के लिए बना गले की फांसJun 14, 07:23 pmबताएं
Twitter Delicious Facebook
फरीदाबाद, जागरण संवाद केंद्र : सेक्टर 75 व 80 से मास्टर रोड का कब्जा लेना जिला प्रशासन और हुडा विभाग के लिए गले की फांस बन गया है। नहरपार मास्टर रोड के निर्माण में इन दो सेक्टरों के किसान रोड़ा बनकर खड़े हैं। मुआवजा लेना तो दूर बल्कि अब किसानों ने अपने खेतों की बुआई करने के बारे में भी मन बना लिया है। यदि ऐसा हो गया तो मास्टर रोड के निर्माण में हुडा विभाग को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है।

पिछले कई महीनों से इन सेक्टरों के अंतर्गत आ रहे गांवों के किसान सरकार व जिला प्रशासन से मुआवजा बढ़ाने की मांग करते आ रहे हैं। बता दें कि सरकार ने किसानों को इस जमीन के बदले 16 लाख रुपये प्रति एकड़ मुआवजा देने की घोषणा की थी, जिसे किसानों के विरोध के बाद 42 लाख रुपये प्रति एकड़ कर दिया गया। लेकिन किसानों को अब भी शिकायत है कि उनका मुआवजा बढ़ाकर सर्कल रेट के अनुसार किया जाए और सड़क की अलाइनमेंट में आ रहे निर्माणों को बाहर किया जाए। हालांकि हुडा के अधिकारियों ने कई बार यहां से भूमि का कब्जा लेने की कार्रवाई करनी चाही, लेकिन किसानों के विरोध के कारण हर बार उन्हें खाली हाथ लौटना पड़ा। बताते हैं कि कई किसानों ने मास्टर रोड के अंतर्गत आ रहे खेतों में बुआई शुरू कर दी है। इसके बावजूद अब तक जिला प्रशासन ने कारगर कदम नहीं उठाए हैं। यदि प्रशासन ने जल्द से जल्द कोई कदम नहीं उठाया तो नहरपार क्षेत्र के विकास कार्य शुरू होने में अत्यधिक विलंब होने की पूरी संभावनाएं हैं।
User avatar
vinitanandwani
GFWA Member
GFWA Member
 
Posts: 156
Images: 8
Joined: Tue Mar 08, 2011 4:25 pm

Re: Preparations on by HUDA for acquisition of land in Neharpar

Postby vinitanandwani » Wed Jun 15, 2011 3:04 pm

प्रदेश में नए सेक्टर बसाने की योजना फाइलों में अटकी
भास्कर न्यूज & पंचकूला

हरियाणा की भूमि अधिग्रहण नीति की तारीफ भले ही केंद्र सरकार तक कर चुकी लेकिन सच यह भी है कि राज्य सरकार को बीते तीन सालों में एक्वायर जमीन का कब्जा लेने में काफी दिक्कत पेश आ रही है। जमीन मालिक हुडा को जमीन देना नहीं चाहते और इसी कारण कई शहरों में नए सेक्टर बसाने की योजना फाइलों तक सिमट कर रह गई है। इन सभी सेक्टरों में रिहायशी प्लाट आफर किए जाने हैं।

मसला जमीन के एवज में सरकार से मिलने वाले मुआवजे का है। जमीन मालिक मुआवजे को बाजार भाव से कहीं कम आंक रहे और इसी कारण जमीन का कब्जा नहीं छोड़ रहे हैं। इस मामले में दिल्ली से सटी उत्तर प्रदेश सीमा में जमीन मालिकों का आंदोलन हरियाणा के जमीन मालिकों का हौंसला बढ़ा रहा है। हुडा के टाउन प्लानिंग विंग ने सोनीपत में सेक्टर 8, 18 और 19 बसाने की तैयारी कर रखी है। इसके लिए करीब 400 एकड़ जमीन करीब ढाई साल से एक्वायर कर रखी लेकिन कब्जा अब तक नहीं मिला है। पलवल में सेक्टर 12 और 21 के लिए करीब 300 एकड़ जमीन सवा दो साल से एक्वायर है। फरीदाबाद में सेक्टर 75 और 80 बसाने के लिए भी करीब 200 एकड़ जमीन सरकार एक्वायर कर चुकी मगर कब्जा नहीं मिल पा रहा। इसी तरह रोहतक के सेक्टर 6 और 7 में भी सैकड़ों प्लाट आफर किए जाने हैं मगर जमीन हुडा के हाथ में नहीं है। संभव है कि हुडा को कई और शहरों में जमीन मिलने में दिक्कत पेश आ रही है।
User avatar
vinitanandwani
GFWA Member
GFWA Member
 
Posts: 156
Images: 8
Joined: Tue Mar 08, 2011 4:25 pm

Re: Preparations on by HUDA for acquisition of land in Neharpar

Postby vinitanandwani » Wed Jun 15, 2011 3:09 pm

प्रदेश में नए सेक्टर बसाने की योजना फाइलों में अटकी
भास्कर न्यूज & पंचकूला

हरियाणा की भूमि अधिग्रहण नीति की तारीफ भले ही केंद्र सरकार तक कर चुकी लेकिन सच यह भी है कि राज्य सरकार को बीते तीन सालों में एक्वायर जमीन का कब्जा लेने में काफी दिक्कत पेश आ रही है। जमीन मालिक हुडा को जमीन देना नहीं चाहते और इसी कारण कई शहरों में नए सेक्टर बसाने की योजना फाइलों तक सिमट कर रह गई है। इन सभी सेक्टरों में रिहायशी प्लाट आफर किए जाने हैं।

मसला जमीन के एवज में सरकार से मिलने वाले मुआवजे का है। जमीन मालिक मुआवजे को बाजार भाव से कहीं कम आंक रहे और इसी कारण जमीन का कब्जा नहीं छोड़ रहे हैं। इस मामले में दिल्ली से सटी उत्तर प्रदेश सीमा में जमीन मालिकों का आंदोलन हरियाणा के जमीन मालिकों का हौंसला बढ़ा रहा है। हुडा के टाउन प्लानिंग विंग ने सोनीपत में सेक्टर 8, 18 और 19 बसाने की तैयारी कर रखी है। इसके लिए करीब 400 एकड़ जमीन करीब ढाई साल से एक्वायर कर रखी लेकिन कब्जा अब तक नहीं मिला है। पलवल में सेक्टर 12 और 21 के लिए करीब 300 एकड़ जमीन सवा दो साल से एक्वायर है। फरीदाबाद में सेक्टर 75 और 80 बसाने के लिए भी करीब 200 एकड़ जमीन सरकार एक्वायर कर चुकी मगर कब्जा नहीं मिल पा रहा। इसी तरह रोहतक के सेक्टर 6 और 7 में भी सैकड़ों प्लाट आफर किए जाने हैं मगर जमीन हुडा के हाथ में नहीं है। संभव है कि हुडा को कई और शहरों में जमीन मिलने में दिक्कत पेश आ रही है।
User avatar
vinitanandwani
GFWA Member
GFWA Member
 
Posts: 156
Images: 8
Joined: Tue Mar 08, 2011 4:25 pm

Re: Preparations on by HUDA for acquisition of land in Neharpar

Postby vinitanandwani » Mon Jun 20, 2011 10:07 am

Dainik Bhaskar, 20th June

http://www.bhaskar.com/article/HAR-OTH- ... html?ZX3-V

नए सेक्टर्स के लिए किसानों का कब्जा देने से इनकार

फरीदाबाद. नहरपार नए सेक्टर्स की डेवलपमेंट में सेक्टर-75, 80 के तहत पांच गांवों के किसान रोड़ा बने हुए हैं। टाउन एंड कंट्री प्लानिंग डिपार्टमेंट द्वारा सेक्टर-84, 85, 86 के लिए की गई प्लानिंग का किसानों ने विरोध किया है।

किसानों का कहना है कि जब उन्होंने दो साल पहले जमीन अधिग्रहण करने वाले सेक्टर्स को ही अभी तक डेवलप नहीं होने दिया तो हुडा नए सेक्टर काटकर क्यों अपना समय व्यर्थ कर रहा है। किसानों ने चेतावनी दी है कि जब तक उनका मुआवजा नहीं बढ़ जाता वे सेक्टरों को डेवलप नहीं होने देंगे। इसलिए न केवल विभाग के अधिकारियों की चिंता बढ़ गई है बल्कि नहरपार सेक्टर्स के डेवलप होने पर संकट के बादल मंडराने लगे हैं।

दाल नहीं गल रही

कुछ दिनों पहले सेक्टर-74-75 की डिवाइडिंग रोड पर कब्जा लेने हुडा की टीम पहुंची तो नहरपार किसान संघर्ष समिति के कार्यकारी अध्यक्ष शिवदत्त वशिष्ठ के नेतृत्व में सैकड़ों किसानों ने काम रुकवा दिया। मौके पर पैमाइश के लिए गाड़े गए खंभों को भी गुस्साए किसानों ने उखाड़ फेंका। किसानों ने चेतावनी दी है कि जब तक उचित मुआवजा तय नहीं हो जाता, किसान जमीन पर कब्जा नहीं देंगे। किसानों के कड़े तेवर के कारण ही हुडा की टीम इन गांवों में घुस नहीं सकी है।

कड़े तेवर

वशिष्ठ का कहना है कि दो वर्ष पहले सेक्टर-75 व 80 के लिए हुडा द्वारा बड़ोली, फज्जुपुर, प्रहलादपुर, मिर्जापुर व सीही गांव की पांच सौ एकड़ से अधिक जमीन का अधिग्रहण किया था। उस समय किसानों को 16 लाख रुपए प्रति एकड़ के हिसाब से मुआवजा दिया गया। इसके बाद किसानों के विरोध के बाद मुआवजा राशि को बढ़ाकर 42 लाख रुपए कर दिया गया।

इनके साथ सेक्टर-75 व 80 सेक्टर के तहत अधिग्रहण होने वाली जमीन के किसान भी संघर्ष कर रहे थे, लेकिन सरकार ने इनका मुआवजा नहीं बढ़ाया। इसी दोहरी नीति से किसानों में रोष व्याप्त है। किसानों का कहना है कि जब तक उनकी जमीन का मुआवजा नहीं बढ़ जाता तब तक किसान हुडा को कब्जा नहीं देंगे।
User avatar
vinitanandwani
GFWA Member
GFWA Member
 
Posts: 156
Images: 8
Joined: Tue Mar 08, 2011 4:25 pm

Re: Preparations on by HUDA for acquisition of land in Neharpar

Postby pgarg2000 » Tue Jun 21, 2011 10:40 pm

http://in.jagran.yahoo.com/news/local/h ... 963_1.html

जुलाई तक तय होगा मास्टर रोड का बजट
Jun 21, 06:27 pm

नहरपार मास्टर रोड का बजट जुलाई तक बनकर तैयार हो जाएगा। पिछले एक महीने से मास्टर रोड की अलाइनमेंट के लिए चल रहा सर्वे का काम भी पूरा कर लिया गया है। फिलहाल विभाग केवल उस भाग का बजट तैयार करेगा, जिसका कब्जा लिया जा चुका है।

बता दें कि हाल ही में हुडा विभाग ने नहरपार प्रस्तावित मास्टर रोड की लंबाई कम कर दी थी। मास्टर रोड में आ रहे निर्माणों को बचाने के लिए इसकी अलाइनमेंट में भी कुछ जगह बदलाव किए गए हैं। पहले मास्टर रोड की कुल लंबाई 52 किलोमीटर थी लेकिन अब इसमें से दो से ढाई किलोमीटर लंबाई कम कर दी गई है। इसमें से विभाग अब तक करीब 32 किलोमीटर भूमि का कब्जा ले चुका है। बची हुई भूमि का अधिग्रहण मुआवजे व कोर्ट के मामलों को सुलझाने के बाद किया जाएगा। फिलहाल बजट भी इसी 32 रास्ते के लिए तैयार किया जाएगा। किस सड़क की कितनी चौड़ाई होगी, सड़क की लंबाई, मिट्टी की जांच आदि को लेकर सर्वे का काम पूरा कर लिया गया है।

सूत्रों के अनुसार सेक्टर - 87 से गुजरने वाले मास्टर रोड की मुख्य सड़क पर करीब 225 मीटर का बदलाव किया गया है। सेक्टर-78 की मुख्य सड़क के पास अलाइनमेंट में 500 मीटर का बदलाव कर इसे अंदर की तरफ कर दिया गया है। सेक्टर-87 और 89 की विभाजित सड़क को बदलते हुए 700 मीटर लंबे रोड को सेक्टर-89 की तरफ बढ़ा दिया गया है। सेक्टर- 87 और 86 की विभाजित सड़क में 320 मीटर लंबी सड़क को सेक्टर-86 की तरफ बढ़ाया गया है। सेक्टर-82 और 83 की विभाजित सड़क को 500 मीटर सेक्टर 83 की तरफ, सेक्टर 81 और 86 की विभाजित सड़क पर 560 मीटर लंबी सड़क को सेक्टर-81 की तरफ और सेक्टर-76 और 77 की विभाजित सड़क पर 550 मीटर लंबी सड़क को सेक्टर-76 की तरफ बढ़ा दिया गया है। हालांकि अधिकारियों का कहना है कि इस अलाइनमेंट को अंतिम रूप दिया जा रहा है। नए डिजाइन के अनुसार ही नया बजट तैयार किया जाएगा। हुडा के कार्यकारी अभियंता अनिल माकन ने बताया कि जुलाई तक मास्टर रोड का बजट तैयार हो जाएगा।
User avatar
pgarg2000
Senior Member
Senior Member
 
Posts: 362
Joined: Fri Dec 10, 2010 10:52 am

PreviousNext

Return to Greater Faridabad News & Development

 


  • Related topics
    Replies
    Views
    Last post

Who is online

Users browsing this forum: No registered users and 2 guests

cron