Join us on Facebook
Become a GFWA member

Site Announcements

Invitation to RPS SAVANA Allottees to join Case in NCDRC against RPS Infrastructures Ltd


Have you submitted a rating and reviewed your project?
Rate & Review your project now! Submit your project and review.
Read Reviews! Share your feedback!


** Enhanced EDC Stayed by High Court **

Forum email notifications...Please read !
Carpool from Greater Faridabad to Noida
Carpool from Greater Faridabad to GGN


Advertise with us

News feed, media related information on Greater Faridabad News and Development

News on Reviving Kalindi Bypass project in Today's Dainik Jagran

Postby gauravarora » Mon Jun 20, 2011 2:29 pm

This news item appeared in Today's Dainik Jagran on Page 2 in the main paper. If this project is revived then it will be good for Greater Faridabad and the bye pass road will run parallely to NH2, right upto Ashram :)

http://in.jagran.yahoo.com/epaper/index ... &pageno=4#

योजना फिर शुरू होने की आसनई

दिल्ली, जागरण संवाददाता : खटाई में पड़ी अति महत्वाकांक्षी कालिंदी बाईपास योजना पर फिर से काम शुरू करने की उम्मीद जगी है। योजना में कहां गतिरोध है और उसे कैसे दूर किया जाए, इस पर अध्ययन करने के लिए लोक निर्माण विभाग ने कंसलटेंट की नियुक्ति से संबंधित फाइल स्वीकृति के लिए सरकार को भेज दी है। विभाग के अधिकारियों का कहना है कि कंसलटेंट की नियुक्ति होने पर योजना का जमीनी अध्ययन शुरू कराया जाएगा। बाईपास योजना फिर शुरू हुई तो प्रतिदिन दिल्ली, उत्तर प्रदेश और हरियाणा के लाखों वाहन चालकों को इसका सीधा लाभ मिलेगा। कालिंदी कॉलोनी आश्रम चौक डीएनडी क्लोवरलीफ से लेकर कालिंदी कुंज होते हुए बदरपुर तक करीब 15.8 किलोमीटर तक छह लेन का सिग्नल फ्री नया मार्ग बनाया जाना है। इसके माध्यम से यमुनापार, उत्तर प्रदेश व मार्ग के आसपास के क्षेत्र के लोग बदरपुर- फरीदाबाद होते हुए सीधे आगरा पहुंच सकेंगे। ज्ञात हो कि इस योजना पर 2003 में मै.रानी कंस्ट्रक्शन कंपनी द्वारा निर्माण कार्य शुरू किया गया था। करीब चार साल में काम पूरा करना था, लेकिन अदालती आदेश और विवाद के बढ़ते 2006 के शुरू में निर्माण कार्य बंद कर दिया गया। कहां-कहां है गतिरोध : 8 ओखला गांव के पास यमुना के किनारे से गुजरेगी योजना। लेकिन अदालती आदेश के चलते यमुना के सौ मीटर के दायरे में किसी भी निर्माण पर रोक है। 8 ओखला गांव के पास से जसोला के डेढ़ किलोमीटर के दायरे में उप्र सिंचाई विभाग व डीडीए के बीच जमीन को लेकर चल रहा है विवाद। 8 योजना के प्रथम चरण का कुछ भाग ओखला पक्षी विहार से गुजरना है, जिसके लिए उप्र वन विभाग को राजी करना होगा। 8 ओखला स्थित उप्र सिंचाई विभाग की रिहायशी कॉलोनी व यमुनोत्री वीआइपी गेस्ट हाउस के चलते उप्र सरकार से लेनी होगी स्वीकृति।
User avatar
gauravarora
GFWA Member
GFWA Member
 
Posts: 76
Joined: Thu Mar 17, 2011 11:49 am

Return to Media Corner

 


  • Related topics
    Replies
    Views
    Last post

Who is online

Users browsing this forum: No registered users and 2 guests

cron