Join us on Facebook
Become a GFWA member

Site Announcements

Invitation to RPS SAVANA Allottees to join Case in NCDRC against RPS Infrastructures Ltd


Have you submitted a rating and reviewed your project?
Rate & Review your project now! Submit your project and review.
Read Reviews! Share your feedback!


** Enhanced EDC Stayed by High Court **

Forum email notifications...Please read !
Carpool from Greater Faridabad to Noida
Carpool from Greater Faridabad to GGN


Advertise with us

Discuss about project Piyush Heights, Sector 89, Faridabad.

New FIR registered against Piyush Group Directors for Cheating and Threatening

Postby dheerajjain » Fri Jan 17, 2014 10:22 am

Another FIR has been registered against all 3 Piyush Directors/Owners for Cheating and Threatening buyer. This time FIR is on commercial property. These Piyush Group directors consider cheating and criminal conspiracy as their right and cheat everyone whether buyer is for residential or commercial. Police/Courts should do justice to buyers whose life time savings have been grabbed by these professional cheaters.

Daink Jagran covered this news as top news for Faridabad today. Here is online link:

http://www.jagran.com/haryana/faridabad-11016661.html

जागरण संवाददाता, फरीदाबाद:

पैसे जमा कराने के बाद भी दिल्ली के एक व्यक्ति को व्यवसायिक स्थल न देने पर पुलिस ने अदालत के आदेश पर बिल्डर कंपनी पीयूष ग्रुप के तीन निदेशक अनिल गोयल, अमित गोयल और पुनीत गोयल के खिलाफ धोखाधड़ी और जान से मारने की धमकी का मामला दर्ज किया है।

दर्ज मामले के अनुसार दिल्ली पश्चिम विहार के रहने वाले कपिल पाठक ने वर्ष 2007 में सेक्टर-27 ए में व्यवसायिक स्थल लेने के लिए पीयूष ग्रुप के अधिकारियों से बात की थी। पीयूष ग्रुप ने कपिल पाठक को एक हजार वर्ग गज का स्थल दिखाया। पसंद आने पर कपिल पाठक इसे लेने के लिए सहमत हो गया और कपिल ने पीयूष ग्रुप में 10,50,000 रुपये जमा कराकर व्यवसायिक स्थल बुक करा लिया। आरोप है कि कपिल पाठक को न तो आज तक स्थल दिया गया है और न ही उसके पैसे लौटाए गए। कपिल कंपनी के चक्कर लगाता रहा, लेकिन उसकी कहीं पर भी सुनवाई नहीं हुई। उसने कंपनी के प्रबंध निदेशक अनिल गोयल व संयुक्त निदेशकों से भी गुहार लगाई, लेकिन उसकी एक न सुनी गई। इतना ही नहीं उसे कंपनी निदेशकों की तरफ से जान से मारने की धमकी भी दी गई। आखिर उसने अदालत का दरवाजा खटखटाया। अदालत ने तीनों के खिलाफ मामला दर्ज करने के आदेश दिए।

पीयूष ग्रुप के निदेशक अमित गोयल का कहना है कि हम इस मामले में पुलिस के समक्ष अपना विस्तृत पक्ष प्रस्तुत करेंगे। अभी जो मामला दर्ज हुआ है वह एकतरफा सुनवाई पर दर्ज हुआ है। असल में जिस कंपनी में कपिल पाठक ने पैसे देने की बात कही है उसमें उस समय केवल पुनीत गोयल ही निदेशक थे, और वे स्वयं या फिर अनिल गोयल इस कंपनी में कभी निदेशक या प्रबंध निदेशक नहीं रहे।
User avatar
dheerajjain
GFWA Member
GFWA Member
 
Posts: 2010
Images: 0
Joined: Mon Mar 15, 2010 4:55 pm
Location: Delhi

Return to Piyush Heights

 


  • Related topics
    Replies
    Views
    Last post

Who is online

Users browsing this forum: No registered users and 6 guests